जनता ने भाजपा को दिया थर्ड डिग्री टॉर्चर।

0
170
views

सेमीफाइनल चुनाव हारी भाजपा :- राजस्थान उपचुनाव
राजस्थान में हुए उपचुनाव को सेमीफाइनल चुनाव की सज्ञा दी गई थी, क्योकि राजस्थान में इस वर्ष विधानसभा चुनाव होने वाले है,और ये उपचुनाव उन विधानसभा चुनाव से पहले हुए है। इन उपचुनाव में दो लोकसभा सीट एवम एक विधानसभा सीट शामिल थी। और इन तीनो सीटों पर कांग्रेस ने जीत हासिल की और भाजपा सरकार की झोली खाली रह गई। और जनता ने भाजपा को थर्ड डिग्री टॉर्चर दे दिया।

क्या होते है, उपचुनाव :-
उपचुनाव का सीधा सा मतलब होता है, जब किसी लोकसभा, विधानसभा सीट किसी कारण वश अपने तय समय से पहले खाली हो जाती है,तो उसे भरने के लिए एक चुनाव करना पड़ता है,जिसे उपचुनाव के नाम से जाना जाता है। और राजस्थान में उपचुनाव की वजह भी यही थी। क्योंकि अजमेर लोकसभा से भाजपा सासद प्रो. सांवरमल जाट और अलवर लोकसभा से भाजपा सांसद चांद नाथ योगी का निधन हो गया था। एवम मांडलगढ़ विधानसभा से भाजपा विधायक कीर्ति कुमारी का असामयिक निधन हो गया था।

किसकी झोली में गई सीट, किसकी डूबी नैया :-
राजस्थान उपचुनाव में अलवर सीट से कांग्रेस प्रत्याशी करण सिंह यादव ने बीजेपी के जसवंत सिंह यादव को हराया, तो अजमेर लोकसभा सीट से कांग्रेस प्रत्याशी रघु शर्मा ने बीजेपी के राम स्वरूप लांबा को हरा कर जीत हासिल की। वही मांडलगढ़ विधानसभा उपचुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी विवेक धाकड़ ने बीजेपी के शक्ति सिंह हाडा को हरा कर कांग्रेस को एक और विधानसभा सीट दिलाई।

हार के कारणों में राजपूत समाज का नाम :-
राजनेतिक जानकारों की माने तो फिल्म पदमावती और आनंदपाल एनकाउंटर की वजह से राजपूत समुदाय भाजपा से नाराज था। और उन्होंने खुले में कांग्रेस को समर्थन देकर अपने समाज के लोगो से कांग्रेस को वोट देने की अपील की थी। जिससे कहा जा रहा है कि राजपूत समाज के लोगो ने भाजपा को वोट न देकर कांग्रेस को वोट दिए जिसका नतीजा सबके सामने है।

वंसुधरा सरकार पर लगते नाकामियों के आरोप :-
वंसुधरा सरकार बनने के बाद उनके द्वारा लिए गए फेसलो एवम उनके द्वारा तैयार रणनीतियों पर नाकामियों के आरोप लगते आये है इन नाकामियों की वजह से भी लोगो में वंसुधरा सरकार के प्रति मोह भग हो गया था। जिसका कारण राजस्थान विधानसभा चुनाव से पहले हुए इन उपचुनाव जिन्हें सेमीफाइनल की सज्ञा दी गई उनमे भाजपा को हार का सामना करना पड़ा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here